Breaking: शराब मामले में कारोबारी अनवर ढेबर को हाई कोर्ट से जमानत

मेडिकल ग्राउंड पर मिली जमानत, कुछ दिन पहले जांच पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई थी रोक

BILASPUR. Breaking: Businessman Anwar Dhebar gets bail from High Court in liquor case. प्रदेश में कथित 2000 करोड़ रुपए के शराब घोटाले मामले बड़ा अपडेट मिला है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच के बाद शराब मामले में जेल में बंद रायपुर मेयर एजाज ढेबर के भाई व कारोबारी अनवर ढेबर को जमानत मिल गई है। बिलासपुर हाई कोर्ट में जस्टिस दीपक तिवारी ने मेडिकल ग्राउंड पर जमानत दी है।

छत्तीसगढ़ के 1 लाख से ज्यादा बेरोजगारों को मिला भत्ता

बता दें कि पिछले दिनों ही सुप्रीम कोर्ट ने शराब घोटाले की प्रवर्तन निदेशालय जांच पर रोक लगा दी थी। इसके साथ ही पीठ ने यश टुटेजा समेत अन्य अधिकारियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई पर भी रोक लगा दी थी। इस दौरान राज्य सरकार ने दावा किया था कि उत्पाद विभाग के 52 अधिकारियों को मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है।

ईडी ने रायपुर की विशेष अदालत में पेश की थी चार्जशीट

गौरतलब है कि ईडी ने कुछ दिनों पहले ही रायपुर की विशेष अदालत में चार्जशीट पेश की थी। यह चार्जशीट प्रदेश में ईडी की ओर से उजागर किए गए शराब घोटाले के संबंध में थे। 13 हजार पन्नों की चार्जशीट अदालत में लाई गई। एक बड़े से संदूक में दस्तावेज कोर्ट पहुंचे थे। कारोबारी अनवर ढेबर, त्रिलोक ढिल्लन और आबकारी विभाग में अधिकारी रह चुके ए पी त्रिपाठी को शराब घोटाले का मास्टरमाइंड बताया गया था। इन दस्तावेजों में बताया गया था कि इन लोगों ने मिलकर सरकारी सिस्टम का दुरुपयोग करते हुए बड़े भ्रष्टाचार को अंजाम दिया।

 

Back to top button