Breaking: महासमुंद विधायक समेत कई कारोबारियों के ठिकानों पर ईडी की छापेमारी

कोल परिवहन मामले में दस्तावेजों की चल रही पड़ताल, सीआरपीएफ तैनात

RAIPUR. Breaking: ED raids on the premises of many businessmen including Mahasamund MLA. छत्‍तीसगढ़ में एक बार फिर प्रर्वतन निदेशालय (ईडी) ने आज सुबह रायपुर समेत कई शहरों में एक साथ कई नेताओं और कारोबारियों के ठिकानों में दबिश दी। दरअसल, ईडी की यह कार्रवाई कोयला परिवहन घोटाले में चल रही जांच से जुड़ी बताई जा रही है। जानकारी मिली है कि महासमुंद विधायक व संसदीय सचिव सेवनलाल चंद्राकर, उद्योगपति कमल सारडा समेत अफसरों के यहां ईडी की कार्रवाई चल रही है। ईडी की यह कार्रवाई रायपुर, भिलाई में चल रही है। बिलासपुर, रायगढ़ और कोरबा में भी टीम कार्रवाई की चर्चा है।

कवासी लखमा बोले- आदिवासी हिंदू नहीं, अलग हो धर्म कोड

जानकारी मिली है कि रायपुर में मंदिर हसौद के पास ग्राम बहनाकाड़ी के जमीन दलाल सुरेश बांदे और वीआईपी करिश्मा अपार्टमेंट में एक सीए के यहां भी ईडी ने दबिश दी है। इन सभी जगहों पर दबिश देकर ईडी के अधिकारी जरूरी दस्तावेज खंगाल रहे हैं। इसके साथ कांग्रेस कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल के ऑफिस में भी जांच चल रही है। इस कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में सीआरपीएफ के जवान तैनात हैं। बता दें कि छत्तीसगढ़ में लंबे समय से ईडी के अफसर जमे हुए हैं।

पहले भी हो चुकी है बड़ी कार्रवाई

बता दें कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अधिवेशन से ऐन पहले ईडी ने कांग्रेस नेताओं के घर दबिश दी थी। ईडी ने श्रम विभाग के अध्यक्ष सन्नी अग्रवाल, भिलाई विधायक देवेंद्र यादव, बिलाईगढ़ विधायक चंद्रदेव राय, कांग्रेस प्रदेश कोषाध्यक्ष राम गोपाल अग्रवाल, कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह, कांग्रेस नेता गिरीश देवांगन और कांग्रेस के युवा नेता विनोद तिवारी के घर दबिश दी थी। उसके बाद से लगातार इन्हें पूछताछ के लिए बुलाया गया। हालांकि छापे और पूछताछ के बाद किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई थी।

Back to top button