तस्वीरों में रायपुर की गणेश झांकी

दो साल बाद फिर दिखा उत्साह, हजारों की संख्या में पहंुचे लोग

रायपुर। Raipur’s Ganesh tableau in pictures. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भगवान गणेश की झांकी निकाली गई। करीब दो साल साल बाद उत्साह भी दोगुना दिखा। इस दौरान हजारों की संख्या में पहुंचे भक्त झूम उठे।

बता दें कि पहले रविवार रात झांकी निकलनी थी, लेकिन मौसम को देखते हुए इसे एक दिन आगे बढ़ाया गया। इसके बावजूद बरसता पानी भी भक्तों का उत्साह कम नहीं कर सका।

 

रायपुर के हृदय स्थल जय स्तंभ चौक पर विहंगम नजारा उमड़ आया। शारदा चौक से रात 9 बजे झांकी निकलने का सिलसिला शुरू हुआ और रात होते-होते सड़कों पर उन्हें देखने हुजूम उमड़ पड़ा।

Breaking: रायगढ़ में शूटिंग करेंगे अक्षय कुमार, डायरेक्टर की टीम 9 सिंतबर को आएंगे छत्तीगसढ़

रातभर बारिश के बीच झांकियां अपनी रूट पर आगे बढ़ती रही और लोग डीजे-धुमाल की धुन में थिरकते रहे। ज्यादातर झांकियां रामायण-महाभारत जैसी पौराणिक कथाओं पर आधारित रहीं।

गणेशोत्सव के समापन पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मी ही 3000 थे। खराब मौसम के बावजूद श्रद्धालुओं का हुजूम मालवीय रोड, पुरानी बस्ती से लाखे नगर होकर रायपुरा तक नजर आया। विसर्जन का दौर सुबह तक चला।\

50 से अधिक झांकियां रहीं आकर्षण का केंद्र

विसर्जन झांकी में 50 से अधिक झांकियां आकर्षण का केंद्र रहीं। 20 से अधिक झांकियां राजनांदगांव से लाई गई थीं। झांकियों में खास आकर्षण भगवान भोलेनाथ की बरात में नाचते भूत-प्रेत, देवगण, नंदी की प्रतिमा रही। एक झांकी में रिद्धि-सिद्धि संग भगवान गणेश के विवाह को प्रस्तुत किया गया। श्रीराम-सीता, लक्ष्मण और हनुमान की भक्ति को प्रदर्शित करती एक झांकी भीआकर्षण का केंद्र रही। वहीं, राधा-कृष्ण की लीला, महाभारत युद्ध प्रसंग के अलावा आजादी के अमृत महोत्सव पर देशभक्ति का संदेश देने वाली झांकी ने मन मोह लिया।

Back to top button