BREAKINGMP-छत्तीसगढ़

Breaking: छत्तीसगढ़ में 50 लाख से अधिक घरों पर तिरंगा, 26 करोड़…

छत्तीसगढ़ संस्कृति विभाग ने सभी कलेक्टरों ने पत्र लिखकर तैयारी करने कहा

रायपुर। Tricolor in chhattisgarh…छत्तीसगढ़ में तिरंगा। भारत की आजादी की 75 वीं वर्षगांठ पर देशभर में हर घर तिरंगा अभियान की तैयारी शुरू हो गई है। इस बीच, छत्तीसगढ़ में प्रदेश में 50 लाख से अधिक घरों में तिरंगा फहराने का लक्ष्य हैं। इसके लिए छत्तीसगढ़ संस्कृति विभाग ने सभी कलेक्टरों ने पत्र लिखकर तैयारी करने कहा है। संस्कृति विभाग के अफसरों ने बताया कि तिरंगा की व्यवस्था केंद्र और राज्य सरकार कर रही है। खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग 25 से 50 रुपए में तिरंगा बेचेगा। लोग खुद भी ध्वज बनवा सकते हैं, लेकिन इसकी लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 3ः2 होना चाहिए। बता दें कि छत्तीसगढ़ में 60 लाख घर है। जहां 13 से 15 अगस्त तक शान से तिरंगा लहराया जाएगी।

रायपुर में नई व्यवस्था: अब वर्किंग वूमन हॉस्टल में योग दफ्तर, हर बैच में 100 लोगों को देंगे निशुल्क ट्रेनिंग

इस अभियान के लिए केंद्र सरकार के तीन मंत्रालयों ने अपने संसाधन साझा किए हैं और अगुवाई संस्कृति मंत्रालय कर रहा है। सरकार की तैयारी 26 करोड़ घरों तक राष्ट्रीय ध्वज फहराने की है। इस पर करीब 1300 करोड़ रुपए का खर्च होगा। 13 से 15 अगस्त तक हर घर तिरंगा फहराने के अभियान के लिए व्यापक पैमाने पर ध्वज की मांग होने से इसकी आपूर्ति में निजी कंपनियों की मदद ली गई है।

संस्कृति विभाग के डायरेक्टर विवेक आचार्य के मुताबिक आजादी के अमृत महोत्सव पर घर-घर तिरंगा फहराने के लिए गांव से लेकर शहर तक तैयारी शुरू कर दी गई है। इसके अलावा तिरंगा बनवाने का काम जारी है, ताकि किसी को दिक्कत न हो। अभियान के लिए सरकार ने पॉलिएस्टर के तिरंगे की भी अनुमति दी है। इसके अलावा मशीन से बुने कपड़े के झंडे की भी अनुमति है।

अब दिन-रात फहराया जा सकेगा तिरंगा

सरकार ने ध्वज संहिता में बदलाव किया है। इसके साथ अब तिरंगे को दिन और रात दोनों समय फहराया जा सकता है। साथ ही मशीन और पॉलिएस्टर से बने ध्वजों का उपयोग करने की भी अनुमति होगी। सरकार का यह कदम ऐसे समय में आया है जब वह आजादी का अमृत महोत्सव के तहत 13 से 15 अगस्त तक हर घर तिरंगा अभियान शुरु करने जा रही है।

Related Articles

Back to top button