बोरबेल में फंसा मासूम, जांजगीर में 80 फीट नीचे फंसे राहुल को बचाने के लिए 20 घंटे से रेस्क्यू…वीडियो में दिखी उम्मीद

सुबह 5 बजे से हलचल तेज, सीएम भूपेश खुद ले रहे पल-पल की जानकारी

जांजगीर। Innocent trapped in borebell बोरबेल में फंसा मासूम… जिले के एक खुले पड़े बोरवेल में 10 साल का मासूम गिर गया है। बच्चे को बचाने के लिए करीब 20 घंटे से राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) रेस्क्यू अभियान जारी है। 80 फीट में फंसे राहुल को सुरक्षित निकालने के लिए करीब 50 फीट तक खुदाई की जा चुकी है।

Breaking: देश के 9 IPS को छत्तीसगढ़ कैडर मिला…पढ़िए पूरा आदेश

इस दौरान पाइप के माध्यम से राहुल को ऑक्सीजन दी जा रही है। बोरवेल से राहुल की आवाज और उसकी हलचल पूरी तरह सुनाई और दिखाई दे रही है। इस वीडियो से राहत की उम्मीद जगी है।

इस दौरान प्रशासन ने कहा है कि 65 फीट की खुदाई की जाएगी। इसके बाद टनल बनाने का काम शुरू किया जाए। अनुमान लगाया जा रहा है कि बच्चे को निकालने में अभी और समय लग सकता है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बच्चे को सुरक्षित निकालने के लिए निर्देश दिए हैं। प्रशासन की टीम मौके पर मौजूद है और प्रयास कर रही है कि जल्द ही राहुल को निकाल लिया जाए।

एनडीआरएफ की टीम पहुंची

कटक और बिलासपुर से एनडीआरएफ की टीम मौके पर है। कोरबा, रायगढ़ से भी मशीने देर रात पहुंच गई थीं। आसपास के एरिया में बैरिकेडिंग की है। रात को पर्याप्त लाइटिंग की व्यवस्था की गई थी। इसके अलावा स्वास्थ्य अधिकारियों और एम्बुलेंस की टीम को तैनात किया गया है।

मां-बाप का बड़ा बेटा है राहुल

हादसे के बाद से ही राहुल की मां और उसके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। हर कोई यह उम्मीद लगाए बैठा है कि जल्दी से राहुल को बाहर निकाल लिया जाए। पूरे गांव के लोग भी रात भर उसी जगह पर टिके रहे, जहां पर बच्चा गिरा है। राहुल अपने मां-बाप का बड़ा बेटा है। उसका छोटा भाई 2 साल छोटा है। पिता की गांव में बर्तन दुकान है।

ऐसे समझें पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक पिहारिद गांव का राहुल साहू (10) पिता लाला साहू ने घर की बाड़ी में बोर खुदवाया था। वह बोर फेल हो गया था। इसके बाद बिना केसिंग डाले ही बोर को खुला छोड़ दिया गया, जिसमें राहुल खेलते-खेलते गिर गया। सूचना मिलते ही पूरे इलाके में हड़कंप मच गया।

Back to top button