कांग्रेस की अमेठी-रायबरेली सीट पर उम्मीदवार का फैसला जल्द

0
12

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए नामांकन शुरू हो चुके हैं. अमेठी से भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने अपना पर्चा भी दाखिल कर दिया है. पर, कांग्रेस की तरफ से अमेठी और रायबरेली सीट पर सस्पेंस बरकरार है. पार्टी ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं.

इन दोनों हाईप्रोफाइल सीट पर कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी से चुनाव लड़ने की मांग कर रहे हैं, पर अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं हुआ है. इन सीट पर नामांकन की अंतिम तिथि तीन मई है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि अमेठी और रायबरेली सीट पर उम्मीदवार को लेकर अंतिम फैसला गांधी परिवार को लेना है. इस तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रियंका चुनाव नहीं लड़ेगी और वह अपना पूरा फोकस चुनाव प्रचार पर रखेंगी. वहीं, राहुल गांधी चुनाव लड़ेंगे या नहीं, वह अमेठी से चुनाव लड़ेंगे या रायबरेली से मैदान में उतरेंगे. इस बारे में जल्द अंतिम फैसला होने की संभावना है. पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने पर भाजपा परिवारवाद पर पार्टी को घेर सकती है.

पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी पहले ही राज्यसभा की सदस्य हैं. राहुल गांधी लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. ऐसे में परिवार की तीसरी सदस्य प्रियंका के चुनाव से गलत संदेश जा सकता है. वहीं, एक सीट तक सीमित रहने के बजाय प्रियंका के पूरे देश में प्रचार करना ज्यादा प्रभावशाली हो सकता है. प्रियंका गांधी वाड्रा के चुनाव नहीं लड़ने की स्थिति में पार्टी दीपा कौल के बेटे आशीष कौल को अपना उम्मीदवार बना सकती है. दीपा कौल हिमाचल प्रदेश की पूर्व राज्यपाल शीला कौल की बेटी हैं. शीला कौल पंडित नेहरू की रिश्तेदार थी.