दुनिया के 10 देशों में कर सकते हैं यूपीआई का इस्तेमाल

0
14

नई दिल्ली. भारत की ‘यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस’ (यूपीआई) सेवाओं की शुरुआत सोमवार को श्रीलंका और मॉरीशस में हुई. एक रिपोर्ट के अनुसार, 10 देशों में अंतरराष्ट्रीय नंबरों से यूपीआई का इस्तेमाल किया जा सकता है जबकि दो देशों में सेवा शुरू करने के लिए बातचीत जारी है. यूपीआई के सात अन्य देशों में भी जल्द शुरू होने की उम्मीद है. इसी महीने प्रमुख यूरोपीय देश फ्रांस के पेरिस में स्थित एफिल टावर पर भी यूपीआई सेवाएं शुरू की गईं.

यूपीआई एक मोबाइल अप्लिकेशन आधारित सिस्टम है. इसके कारण वर्तमान में भारत में डिजिटल पेमेंट की पहुंच दूर-दराज गांवों तक है. लोग छोटी-छोटी खरीदारी भी यूपीआई के माध्यम से कर रहे हैं. इसे भारत के भुगतान नियामक नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने तैयार किया है. यह त्वरित भुगतान करने की सुविधा देता है, जो पलक झपकते ही एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में किया जा सकता है.

इसी महीने फ्रांस में यूपीआई की सेवाएं शुरू की गईं. इसके तहत पेरिस में एफिल टावर पर भी यूपीआई से भुगतान कर सकेंगे. इसके लिए एफिल टावर की वेबसाइट पर क्यूआर कोड दिया गया है. जिसे किसी भी यूपीआई इनेबल्ड ऐप से स्कैन कर यूपीआई पेमेंट किया जा सकता है.

सिंगापुर के पेमेंट इंटरफेस के साथ लिंक

कुछ समय पहले सिंगापुर में यूपीआई को उपलब्ध कराया गया. भारतीय यूपीआई को सिंगापुर के इंस्टेंट पेमेंट इंटरफेस ‘पेनाऊ’ के साथ लिंक किया जा चुका है. इस लिंकेज ने दोनों देशों के बाच रियल टाइम में पैसों का लेन-देन संभव हो गया है.

कोरोना के वक्त भारत में लोकप्रियता मिली

एनपीसीआई ने वर्ष 2016 में यूपीआई सेवा शुरू की थी. यह आरबीआई और आईबीए (इंडियन बैंक एसोसिएशन) द्वारा शासित है. यह कोरोना महामारी के दौरान भारत में बड़े पैमाने पर लोकप्रिय हुआ.

अंतरराष्ट्रीय नंबरों पर सेवा उपलब्ध

यूपीआई के वैश्विक होने के सफर में एक अहम पड़ाव अंतरराष्ट्रीय मोबाइल नंबरों के जरिए एक्सेस हो पाना भी है. एक रिपोर्ट के अनुसार, करीब एक दर्जन देशों में अंतरराष्ट्रीय नंबरों से यूपीआई को एक्सेस और इस्तेमाल किया जा सकता है. भारतीय लोग इन देशों में इंटरनेशनल नंबर का इस्तेमाल कर एनआरई और एनआरओ अकाउंट से यूपीआई का इस्तेमाल कर सकते हैं.

मॉरीशस और श्रीलंका में कैसे होगा भुगतान

  • मॉरीशस और श्रीलंका में भुगतान के लिए उपभोक्ता को यूपीआई एप खोलकर होम स्क्रीन पर जाना पड़ेगा.
  • उसे अपनी प्रोफाइल फोटो पर क्लिक कर पेमेंट सेटिंग सेक्शन में यूपीआई इंटरनेशनल को चुनना पड़ेगा.
  • ग्राहक को जिस बैंक खाते का इस्तेमाल करना है, उसे क्लिक करना होगा.
  • इसके बाद उसे सक्रियता की पुष्टि के लिए अपना यूपीआई पिन दर्ज करना होगा.
  • ग्राहक को व्यापारी द्वारा दिये गए क्यूआर कोड को स्कैन कर वह राशि दर्ज करनी होगी जिसका वह भुगतान करना चाहता है. यहां कुल देय राशि स्थानीय मुद्रा और भारतीय रुपये दोनों में दिखाई पड़ेगी.
  • भुगतान पर क्लिक करना होगा. लेनदेन पूरा करने के लिए अपना यूपीआई पिन दर्ज करना होगा.

भारत में 30 करोड़ उपयोगकर्ता

देश में 2023 में कुल यूपीआई ट्रांजेक्शन की संख्या 100 अरब से भी ज्यादा रही. इनके जरिए 182 लाख करोड़ का लेनदेन हुआ. 38 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ, यूपीआई ने 2022 में 1.53 ट्रिलियन डॉलर (1,27,01,22,61,500 रुपये) की राशि के 74 बिलियन (74 अरब) लेन-देन दर्ज किए थे. इस समय देश में करीब 30 करोड़ लोग यूपीआई पेमेंट का इस्तेमाल कर रहे हैं.

इन देशों में जल्द होगी शुरुआत थाइलैंड, सऊदी अरब, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, बहरीन, जापान, फिलीपींस