छत्तीसगढ़ के विकास के लिए सरकार जारी करेगी विजन डॉक्यूमेंट , वित्तमंत्री ओपी चौधरी ने की बड़ी घोषणा

0
8

रायपुर। देश जब आजादी के सौ साल पूरा कर विकसित राष्ट्र के तौर पर दुनिया में स्थापित होगा. तब हमारा छत्तीसगढ़ देश के अन्य राज्यों से सकारात्मक प्रतिस्पर्धा करते हुए कैसे आगे बढ़ेगा, इसके लिए वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने बजट 2024-35 में ‘अमृतकाल छत्तीसगढ़ विजन@2047’ विजन डॉक्यूमेंट एक नवंबर 2024 को लॉन्च करने का एलान किया.

वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने अपने बजट भाषण में कहा कि यह हमारे सामने चुनौती है. इसके लिए स्पष्ट रोडमैप जरूरी है. इसके लिए सरकार ने तय किया है कि छत्तीसगढ़ 2047 से विकासशील राज्य विकसित राज्य बनेगा, इसका विजन डॉक्यूमेंट तैयार करेंगे. इसका नाम होगा अमृतकाल छत्तीसगढ़ विजन@2047

एक नवंबर 2000 को भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी ने छत्तीसगढ़ को बनाया था. एक नवंबर 2024 को इस विजन डॉक्यूमेंट को जनता को समर्पित करने का काम करेंगे. हमने बनाया है, हम ही संवारेंगे. यह छत्तीसगढ़ की जनता से हमारी सरकार की प्रतिबद्धता है.

5 सालों में जीडीपी को 5 लाख करोड़ से 10 लाख करोड़ तक पहुंचाने दोगुना करने का लक्ष्य।

इसके लिए 10 पिलर्स का निर्धारण किया गया है। आर्थिक विकास का केंद्र बिंदु – ज्ञान, नॉलेज।

– गरीब युवा, अन्नदाता, महिलाओं के हित में कार्य।

– गरीब, किसान, युवा, महिला हमारे केंद्र में है।

– ऑनलाइन रॉयल्टी को हटाकर लाल फीताशाही ऑफलाइन तरीके को अपनाया गया।

– हम ऑनलाइन माध्यम से सरकार के राजस्व में ऐतिहासिक वृद्धि करके दिखाएंगे।

– विभिन्न विभागों को तकनीकी समृद्ध करने के लिए 266 करोड़ का प्रावधान।

पूंजीगत व्यय में गत वर्ष की तुलना में 20 प्रतिशत वृद्धि।

– 20 प्रतिशत कैपेक्स वृद्धि का लक्ष्य।

– प्राकृतिक संसाधनों के लाभ का समान वितरण आमजनों के हित में।

– ईको टूरिज्म के लिए रोडमैप तैयार करेंगे।

– सरकार की सारी क्षमताओं के अतिरिक्त सुनिश्चित होगा निजी निवेश।

– पीपीपी मॉडल को बढ़ावा देंगे। प्राइवेट इन्वेस्टमेंट को बढ़ावा मिलेगा।

– फोकस ऑन बस्तर, सरगुजा। आर्थिक विकास की दृष्टि से मजबूत करेंगे।

– आठवां स्तंभ, जीडीपी। हर क्षेत्र की विशेषताओं के अनुरूप विकाज़ सुनिश्चित करेंगे।

– फोकस ऑन बस्तर एंड सरगुजा

बस्तर में लघु वन उपज के प्रसंस्करण के लिए उद्योगों की स्थापना की जाएगी।

– विकेंद्रीकृत विकास पॉकेट

रायपुर और भिलाई के आसपास के इलाकों को स्टेट कैपिटल रीजन के रूप में विकसित किया जाएगा