DESH-विदेश

विपक्ष बोला, सरकार सिर्फ सपने दिखा रही

विपक्षी दलों ने लोकसभा चुनाव में एनडीए के 400 से अधिक सीटें जीतने के केंद्र सरकार के दावे को सपना करार दिया. उन्होंने दावा किया कि सोमवार को संसद में उनके बयान से पता चलता है कि वह दोबारा चुनाव जीतने को लेकर आश्वस्त नहीं हैं.

प्रधानमंत्री के संबोधन पर भाकपा नेता बिनॉय विश्वम ने कहा कि यह एक ऐसी सरकार है, जो अपने वादे भूल गई, एक ऐसी सरकार जिसने केवल देश और इसकी धर्मनिरपेक्ष साख को नुकसान पहुंचाया. सरकार के वादों और गारंटी का क्या हुआ और उसने महिलाओं, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लिए क्या किया. उन्होंने कहा, दो करोड़ नौकरियां देने के वादे का क्या हुआ?

वास्तविकता अलग माकपा नेता जॉन ब्रिटास ने भी लोकसभा चुनाव में भाजपा के 370 सीट जीतने के दावे पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा, इस देश में हर किसी को सपने देखने का अधिकार है, लेकिन वास्तविकता अलग है. देश की जनता किसी और के सपनों से प्रभावित होने के बजाय अपनी दिशा स्वयं तय करेगी.

तृणमूल कांग्रेस नेता सुष्मिता देव ने कहा कि महिला सशक्तीकरण पर प्रधानमंत्री की टिप्पणी प्रतीकात्मकता के अलावा और कुछ नहीं है.

कांग्रेस सांसद ने 2004 के चुनाव की ओर इशारा किया

कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने पूछा कि अगर उनकी पार्टी चुनाव में 370 का आंकड़ा हासिल करने से चूक गई, तो क्या वह शपथ नहीं लेंगे. उन्होंने 2004 के लोकसभा चुनावों में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के नारे की ओर इशारा करते हुए कहा, अब ‘इंडिया शाइनिंग पार्ट दो’ होने जा रहा है. बसपा से निलंबित लोकसभा सदस्य दानिश अली ने 400 सीट जीतने के दावे का जिक्र करते हुए कहा कि इससे ईवीएम की विश्वसनीयता पर संदेह पैदा होता है.

 

Related Articles

Back to top button