साजिश के तहत फंसाया, लड़ूंगा और जीतूंगा हेमंत सोरेन

0
9

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी से पहले झारखंड की जनता के नाम अपना संदेश रिकॉर्ड किया. यह वीडियो गुरुवार को सोशल मीडिया में चलता रहा है. हेमंत के अनुसार जिस जमीन को लेकर उन पर आरोप लगाए गए हैं, उससे उनका कोई ताल्लुक नहीं है.

हेमंत ने कहा कि जाली कागज बनाकर, फर्जी शिकायत के आधार पर उन्हें गिरफ्तार करने का षड्यंत्र रचने वाले कामयाब हो रहे हैं. लेकिन उन्हें पूरा विश्वास है कि आज नहीं तो कल सत्य की विजय होगी. उन्होंने कहा कि उनकी गिरफ्तारी की खबरें आएंगी.

विरोधियों के नापाक इरादे फिलहाल कामयाब हो रहे हैं. वह अपनी पीठ थपथपाएंगे. झारखंड की जनता काफी संवेदनशील और कर्मठ है. ईमानदारी के साथ वह अपनी लड़ाई जारी रखेंगे. उन्हें उम्मीद है कि इस लड़ाई में सभी का सहयोग मिलेगा.

कोर्ट की शरण में जा रहा हूं सोरेन ने कहा कोर्ट के निर्णय का सर्वमान्य तौर सम्मान करते हैं. वह कोर्ट की शरण में जा रहे हैं. लेकिन उन्हें नहीं लगता कि इतना वक्त मिलेगा. सभी को पता है कि देश के अंदर व्यवस्थाएं किस तरीके से काम कर रही हैं. आज एक लोकप्रिय सरकार, एक आदिवासी नेता अपने बल पर सरकार बनाकर जनता की सेवा कर रहा था. आज लगता है कि यह वक्त उनके लिए खत्म हो रहा है. अब एक नई लड़ाई हमें लड़नी पड़ेगी.

शिबू सोरेन का पुत्र हूं, संघर्ष मेरे खून में

हेमंत सोरेन ने कहा कि उन्हें गिरफ्तारी की चिंता नहीं है. वह शिबू सोरेन के पुत्र हैं. संघर्ष उनके खून में है. वह संघर्ष करेंगे. लड़ेंगे और जीतेंगे भी. किसी खास मंसूबे की वजह से ईडी ने उन्हें गिरफ्तार करने का निर्णय लिया है. उनके पास समय बहुत कम है. हाल में ही राजनीतिक षड्यंत्र का शिकार बिहार हुआ है. अब यह झारखंड को भी षड्यंत्र का शिकार बना रहे हैं.