DESH-विदेश

सरकार ने 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला , मिडल क्लास के लिए भी बड़ी स्कीम

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में वित्तीय वर्ष 2024-25 का अंतरिम बजट पेश कर रही हैं. उन्होंने बजट पेश करते हुए कहा कि  सरकार का दृष्टिकोण सबका साथ, सबका वश्विास है और इसके अनुरूप सरकार काम कर रही है. सीतारमण का वित्त मंत्री के रूप में यह छठा बजट है. वित्त मंत्री ने कहा कि सामाजिक कल्याण के लिए सरकार ने सर्वांगीण, सर्वस्पर्शी और सर्व समावेशी नीति और कार्यक्रम लागू किए तथा भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद को खत्म किया है. उन्होंने कहा कि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम के तहत जनधन खातों के जरिये 34 लाख करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए. इससे 2.7 लाख करोड़ रुपये की बचत हुई, जिससे कल्याणकारी योजनाओं के लिए पैसे की व्यवस्था हो पाई. वित्त मंत्री ने कहा कि कोविड महामारी के बावजूद पीएम आवास योजना (ग्रामीण) के तहत तीन करोड़ घर मुहैया कराए गए, दो करोड़ नए घर भी परिवारों को दिए जाएंगे.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण साल 2024-25 के लिए बजट पेश कर रही हैं. उन्होंने करदाताओं का धन्यवाद दिया है. सरकार ने कर दरों में कटौती की है. सात लाख तक की आमदनी वालों के लिए कोई कर की देनदारी नहीं है.

वित्त मंत्री ने कहा कि देश के फिस्कल डेफिसिट को जीडीपी के सामने संशोधित करके 5.8 फीसदी पर कर दिया गया है. टैक्स रिसीट के बजट को भी संशोधित किया गया है. हम फिस्कल कंसोलिडेशन के लक्ष्य को संशोधित कर रहे हैं. 24-25 में देश के राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को जीडीपी के कुल आकार के सामने घटाकर 5.1 फीसदी पर किया जा रहा है.

देश में महिलाओं के लिए कई स्कीम चलाई जा रही हैं जिससे उनका आर्थिक और सामाजिक विकास हो रहा है. देश में लखपति दीदी योजना के तहत 1 करोड़ लखपति दीदी हो चुकीं हैं. इसका टार्गेट 2 करोड़ से बढ़ाकर 3 करोड़ किया गया है और 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य रखा गया है.9 से 14 साल की लड़कियों के लिए सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन लगाई जाएगी जिससे इस कैंसर की रोकथाम की जा सके.

Related Articles

Back to top button