CM सोरेन ने ED अफसरों के खिलाफ दर्ज करवाई FIR

0
6

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों के खिलाफ झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने एससी\एसटी एक्ट के तहत शिकायत दर्ज कराई है. सीएम के द्वारा आवेदन की कॉपी रांची के एसएसटी-एसी थाने में भेज दी गयी है. सीएम ने आरोप लगाया कि वो आदिवासी समाज से आते हैं और दिल्ली में उन्हें ईडी द्वारा प्रताड़ित किया गया. रांची पुलिस के बयान के अनुसार, ‘झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन की ओर से ईडी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की शिकायत भेजी गई है.धुर्वा थाने में शिकायत मिली है.’

वहीं, इसपर झारखंड बीजेपी के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने निशाना साधा है. उन्होंने अपने ऑफिसियल एक्स पर लिखा, ‘चोरों की संरक्षक सरकार का एक और कारनामा..मोहल्लों गलियों के साथ साथ मुख्य सड़कों में भी चोरों का ही बोलबाला है. पिछले 2 महीने में घरों एवं दुकानों को लूटकर चोरों ने लगभग 70 लाख की अपार जनसंपत्ति अर्जित की. राज्यपोषित चोरों एवं डकैतों की वजह से पूरे प्रदेश में असुरक्षा का माहौल है,लोग घर से बाहर निकलना तो दूर, अपने जेहन में व्याप्त डर से भी बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. वहीं मुख्यमंत्री हेमंत जी ऐसे चोरों एवं अपराधियों का आदर्श बनने में कोई भी कसर नहीं छोड़ रहे हैं. आखिर चोरों एवं डकैतों की मनमानी कब तक चलेगी? कब तक जनता को डर के साए में रहने को मजबूर किया जाएगा?’

ईडी अधिकारियों ने भारी सुरक्षा घेरे के बीच झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से कथित भूमि घोटाले से जुड़े धन शोधन मामले में बुधवार को उनके आवास पर पूछताछ शुरू की. सोरेन (48) सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं, इससे पहले उनसे 20 जनवरी को इसी मामले में पूछताछ की गई थी. एक अधिकारी ने बताया कि उस दिन पूछताछ पूरी नहीं हो पाई थी. उस दिन सोरेन से सात घंटे से अधिक वक्त तक पूछताछ की गई थी.

ईडी के अधिकारियों ने कहा कि झारखंड में ‘माफिया द्वारा भूमि के स्वामित्व को गैर कानूनी तरीके से बदलने के एक बड़े रैकेट’ की जांच के तहत सोरेन से पूछताछ की जा रही है. मुख्यमंत्री से ईडी की पूछताछ शुरू किये जाने से पहले, सुबह ही झामुमो नीत गठबंधन के विधायक यहां उनके आवास पर पहुंच गए. स्वास्थ्य मंत्री एवं कांग्रेस नेता बन्ना गुप्ता ने कहा कि सोरेन जांच में सहयोग कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि संवैधानिक संस्थाओं का यह कर्तव्य है कि वे इस प्रकार की जांच ”ठीक ढंग” से करें.

राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा कि सभी विधायक मुख्यमंत्री के साथ हैं. इस बीच सोरेन के खिलाफ ईडी की कार्रवाई के विरोध में झामुमो समर्थकों ने पास के मोरहाबादी मैदान और कुछ अन्य स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया. एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ”केन्द्र के निर्देश पर ईडी हमारे मुख्यमंत्री को जानबूझ कर परेशान कर रही है… हम पूरे राज्य की आर्थिक नाकेबंदी करेंगे. रांची के मुख्य स्थानों तथा मुख्यमंत्री आवास के सौ मीटर के दायरे में सुबह नौ बजे से रात दस बजे तक धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की गई है.