DESH-विदेश

जिन्हें किसी ने नहीं पूछा, उन्हें हमने पूजा : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि त्रेता युग में राजा राम की कथा हो या आज की राज-कथा, यह गरीब, वंचित और जनजातीय लोगों के कल्याण के बिना संभव नहीं है. उन्होंने कहा, सरकार इसी सोच से काम कर रही है. इसी का नतीजा है कि जिन्हें किसी ने नहीं पूछा, उन्हें मोदी पूछता है और पूजता भी है.

मोदी ने प्रधानमंत्री जनजाति आदिवासी न्याय महाअभियान (पीएम-जनमन) के अंतर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को पहली किस्त जारी करने के बाद वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संबोधन में यह बात कही.

10 साल गरीबों को समर्पित: मोदी ने कहा, सरकार के 10 वर्ष गरीबों को समर्पित रहे. उन्हें चार करोड़ से अधिक पक्के घर दिए गए. हमारी सरकार का प्रयास है कि कल्याणकारी योजनाओं से कोई वंचित न रहे. मोदी ने कहा, सरकार ने वे सभी नियम बदल दिए, जिनसे परेशानी होती हो.

अति पिछड़ों तक लाभ : प्रधानमंत्री ने कहा,सरकार की योजनाएं अति पिछड़े जनजातीय लोगों तक पहुंचें, यही पीएम-जनमन अभियान का उद्देश्य है. मेरा कोई अति पिछड़ा भाई-बहन योजनाओं के लाभ से छूटेगा नहीं.

राष्ट्रपति को श्रेय: मोदी ने पीएम-जनमन योजना के लिए देश की पहली आदिवासी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु के मार्गदर्शन को भी श्रेय दिया. उन्होंने कहा, उसी पृष्ठभूमि की महिला होने के नाते वह अक्सर आदिवासियों से जुड़े मुद्दों की बात करती थीं.

प्रधानमंत्री ने पुतिन से फोन पर बात की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन पर बात की. इस दौरान दोनों नेताओं में रणनीतिक साझेदारी, द्विपक्षीय सहयोग और अन्य मुद्दों पर चर्चा की. मोदी ने एक्स पर पोस्ट में कहा, दोनों देश भविष्य की पहलों के लिए खाका तैयार करने पर भी राजी हुए.

Related Articles

Back to top button