ENTERTAINMENT-लाइफस्टाइल

उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रपति मुर्मू को लिखा पत्र

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को पत्र लिखकर 22 जनवरी को नासिक के कालाराम मंदिर में आरती में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है. उद्धव ठाकरे ने कहा कि वह 22 जनवरी को नासिक कालाराम मंदिर में आरती करेंगे. उद्धव ठाकरे ने कहा, मैं देशभक्त हूं, अंधभक्त नहीं. राम मंदिर में शिवसेना के योगदान पर भी ठाकरे ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, अगर कारसेवक नहीं होते तो अयोध्या में राम मंदिर नहीं खड़ा होता.

ठाकरे ने आगे कहा, जब राम मंदिर नहीं बना था तब हम दो बार गए. मैं शिव जन्मभूमि की मिट्टी लेकर अयोध्या गया था. उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा कि जब भी मेरा मन होगा मैं अयोध्या जाऊंगा. मैं कट्टर हिंदू हूं. राम मंदिर में शिवसेना का योगदान सब जानते हैं. हम 22 तारीख को कालाराम मंदिर जाएंगे और दर्शन करेंगे. इस बार हम कालाराम मंदिर में कार्यक्रम के लिए राष्ट्रपति को भी आमंत्रित करने जा रहे हैं.

राष्ट्रपति को निमंत्रण

ठाकरे ने कहा, अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा सिर्फ राम मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा नहीं है, बल्कि राष्ट्र की प्राण प्रतिष्ठा है. यह देश की अस्मिता की प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव है. उद्धव ठाकरे ने बताया कि हम मांग कर रहे हैं कि हम कालाराम मंदिर में जो आरती करने जा रहे हैं, उस समय राष्ट्रपति भी मौजूद रहें. हम नासिक में कालाराम मंदिर भी जाने वाले हैं, हम एक कार्यक्रम कर रहे हैं, हम राष्ट्रपति को भी औपचारिक रूप से आमंत्रित कर रहे हैं. हमारे सांसद विधिवत आमंत्रित करेंगे.

Related Articles

Back to top button