DESH-विदेश

प्रादेशिक सेना के जरिये साइबर विशेषज्ञों की भर्ती

सेना में टेरिटोरियल आर्मी (प्रादेशिक सेना) के जरिये अब साइबर विशेषज्ञों की भर्ती की जाएगी. इससे सेना को साइबर चुनौतियों से निपटने में मदद मिलेगी.

सेना की हालांकि अपनी अलग से ‘कमांड साइबर आपरेशंस सपोर्ट विंग’ (सीसीओएसडब्ल्यू) मौजूद है. लेकिन, सूचना प्रौद्यौगिकी के बढ़ते इस्तेमाल के मद्देनजर सेना के समक्ष भी लगातार साइबर चुनौतियां बढ़ रही हैं. इसके अलावा निचले स्तर पर जवानों को भी प्रशिक्षित करने की जरूरत महसूस की जा रही है.

सेना द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार टेरिटोरियल आर्मी में साइबर एक्सपर्ट की भर्ती को मंजूरी दी जा चुकी है. टेरिटोरियल आर्मी के जरिये प्रशिक्षित साइबर विशेषज्ञों को अधिकारी के रूप में भर्ती किया जाता है. हाल के समय में इसमें कई किस्म के विशेषज्ञों के भर्ती के रास्ते खोले हैं. कुछ समय पूर्व भाषाविदों को अधिकारियों के रूप में भर्ती किया गया था. अब आईटी विशेषज्ञों की भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू की गई है.

टीए के जरिये होने वाली भर्ती में नियुक्ति अस्थाई होती है. यह आवेदक पर निर्भर करता है कि वह साल भर कार्य करना चाहता है या फिर न्यूनतम दो महीने. इसमें न्यूनतम पद लेफ्टिनेट का होता है.

Related Articles

Back to top button