DESH-विदेश

उम्मीदवारों के चयन को फीडबैक ले रही भाजपा

नई दिल्ली. भाजपा ने लोकसभा चुनावों के लिए उम्मीदवारों के चयन को लेकर राज्यों से फीडबैक लेने का काम शुरू कर दिया है. पार्टी अपने मौजूदा सांसदों के साथ नए संभावित चेहरों को लेकर भी जानकारी जुटा रहा है. इस महीने के आखिर में केंद्रीय चुनाव समिति की पहली बैठक होने की संभावना है, जिसमें पार्टी हारी हुई सीटों के लिए उम्मीदवारों पर विचार कर सकती है.

भाजपा ने लोकसभा चुनावों को लेकर अपनी गतिविधियों को तेज करते हुए उम्मीदवारों के नामों को लेकर काम शुरू कर दिया है. सूत्रों के अनुसार, पार्टी पहले हारी हुई सीटों को लेकर उम्मीदवार तय करेगी. ऐसी लगभग 165 सीटों को लेकर राज्यों से नाम मांगे जा रहे हैं.

राज्यों को हर सीट पर पैनल बनाने को कहा गया है, ताकि ज्यादा बेहतर विकल्पों पर विचार किया जा सके. इनमें कुछ सीटों पर दूसरे दलों से आने वाले नेताओं को भी पार्टी उतार सकती है. सूत्रों के अनुसार, विभिन्न राज्यों में कई अन्य दलों के नेता भी भाजपा के संपर्क में हैं.

22 जनवरी के बाद गतिविधियां तेज होंगी 22 जनवरी को राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के बाद भाजपा की चुनावी गतिविधियां तेज हो जाएंगी, जिनमें रैली और सभाओं के साथ उम्मीदवारों के चयन का काम अहम होगा. हारी हुई और कमजोर सीटों पर उम्मीदवारों को अधिक समय मिल सके इसलिए ऐसी सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा पार्टी प्राथमिकता के आधार पर पहले करेगी. इसके लिए जनवरी के आखिर में केंद्रीय चुनाव समिति की होने वाली बैठक में फैसला होने की संभावना है. मौजूदा सांसदों के बारे में संसद के बजट सत्र के बाद फैसला किया जाएगा. संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से नौ फरवरी तक चलेगा.

देशभर में पार्टी ने बनाए 130 क्लस्टर

पार्टी ने देशभर में लगभग 130 क्लस्टर बनाए हैं. एक क्लस्टर में दो से लेकर पांच लोकसभा तक सीटें हैं. चूंकि, कई राज्यों में एक से दो सीटें ही हैं, इसलिए क्लस्टर उसी हिसाब से बनाए गए हैं. भाजपा के शीर्ष नेता 15 जनवरी के बाद इन क्लस्टरों में रैली और सभाएं करेंगे. इनमें कुछ सभाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी हो सकती हैं. अन्य प्रमुख नेताओं में पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल हैं.

 

 

Related Articles

Back to top button