DESH-विदेश

अस्पतालों का क्लेम जबरन रोक रहे अधिकारी

रायपुर. डॉ. खूबचंद बघेल योजना व आयुष्मान भारत योजना में पंजीकृत अस्पतालों का क्लेम जबरन रिजेक्ट करने का मामला स्वास्थ्य संचालनालय पहुंच गया है. डॉक्टरों ने हैल्थ डायरेक्टर व कमिश्नर को शिकायत में कहा है कि एक महिला अधिकारी जबरन क्लेम रिजेक्ट कर रही है. इससे अस्पतालों का बड़ा नुकसान हो रहा है. इसके पहले पूर्व डिप्टी सीएम व स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से डॉक्टरों ने शिकायत की थी. इसके बाद इस अधिकारी को संबंधित काम से हटाया गया था. कुछ दिन सब ठीक ठाक चल रहा था, लेकिन यह अधिकारी फिर से कुछ अस्पतालों को निशाने पर लेकर क्लेम रिजेक्ट करने लगी है. आईएमए की स्टेट कार्यकारिणी के पदाधिकारियों ने भी कुछ अस्पतालों के क्लेम रिजेक्ट करने पर हैरानगी जताई है.
आईएमए के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. विनोद तिवारी का कहना है कि बीमा कंपनी क्लेम रिजेक्ट तो कर रही रही है, अधिकारी भी कुछ अस्पतालों को लाभ पहुंचाने के लिए ऐसा कर रही है. इस पर रोक लगाने की जरूरत है. गौर करने वाली बात ये भी है कि बीमा कंपनी न केवल निजी बल्कि सरकारी अस्पतालों का क्लेम भी रिजेक्ट कर रही है, जिससे कम भुगतान करना पड़े.

Related Articles

Back to top button