DESH-विदेश

प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियों के बीच प्रधानमंत्री की नसीहत, कहा- आस्था दिखाएं, आक्रोश नहीं

नई दिल्ली . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की तैयारियों के बीच सभी मंत्रियों को आयोजनों को लेकर सक्रिय रहने के साथ मर्यादा का ध्यान रखने को कहा है. सूत्रों के अनुसार, बीते शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक में यह नसीहत दी गई. कहा गया कि मंत्री आस्था दिखाएं, लेकिन विरोधियों को लेकर आक्रामक न रहें. साथ ही दिखावे से बचें.
विरोधियों के साथ विवाद में नहीं पड़ना चाहती पार्टी पार्टी पहले ही सभी नेताओं से कह चुकी है कि वह इस दौरान पार्टी के झंडों और बैनरों का इस्तेमाल न करें. अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर में होने वाली प्राण प्रतिष्ठा के लिए चल रही तैयारियों के बीच भाजपा इस मौके पर अपने विरोधियों के साथ किसी विवाद में नहीं पड़ना चाहती.
ज्यादा तवज्जो न दें भाजपा का कहना है कि देश राम मय हो रहा है और अगर विपक्ष अपने बयानों से माहौल को बिगाड़ने का काम करे तो उसे ज्यादा तवज्जो न दें और जवाबी आक्रामकता न दिखाएं.
बयानबाजी से बचने की सलाह सूत्रों के अनुसार, बैठक में मंत्रियों को बयानबाजी से बचने का निर्देश देने के साथ-साथ कहा गया कि प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर सचेत रहें. प्रधानमंत्री मोदी ने बैठक के दौरान स्पष्ट तौर पर कहा कि मंत्री अपनी आस्था दिखाएं, लेकिन मर्यादा का भी उतना ही ध्यान रखें. वे आक्रामकता बिलकुल न दिखाएं. सभी लोग इस बात का भी ध्यान रखें कि उनके अपने-अपने क्षेत्र में प्राण-प्रतिष्ठा के दौरान किसी भी तरह की गड़बड़ी नहीं हो. साथ ही अपने इलाके के लोगों को 22 जनवरी के बाद अयोध्या में राम लला के दर्शन करवाने लाएं और अधिक से अधिक लोगों को श्रीराम का आशीर्वाद दिलाएं.

Related Articles

Back to top button