DESH-विदेश

इसरो ने एक बार फिर इतिहास रच दिया , मंजिल लैग्रेंज प्वाइंट-1 पर पहुंचा आदित्य एल-1

इसरो ने एक बार फिर इतिहास रच दिया है. मिशन सूरज पर निकला सैटेलाइट आदित्य एल-1 अपनी मंजिल पर पहुंच चुका है. आदित्य एल-1 को लैंग्रेज प्वॉइंट के हालो ऑर्बिट में इंसर्ट कर दिया गया है.
इसके साथ ही भारत ने नए साल में अंतरिक्ष की दुनिया में एक और नई कामयाबी हासिल कर ली है.
पीएम मोदी ने किया ट्वीट
इसरो की इस सफलता पर पीएम मोदी ने भी खुशी जाहिर की है. उन्होंने ट्वीट कर इसरो की सराहना करते हुए लिखा कि ‘भारत ने एक और मील का पत्थर हासिल किया. भारत की पहली सौर वेधशाला आदित्य-एल 1 अपने गंतव्य तक पहुंच गई. सबसे जटिल अंतरिक्ष मिशनों में से एक को साकार करने में हमारे वैज्ञानिकों के अथक समर्पण का प्रमाण है. यह असाधारण उपलब्धि सराहना योग्य है. हम मानवता के लाभ के लिए विज्ञान की नई सीमाओं को आगे बढ़ाना जारी रखेंगे.
मिशन में क्या करेगा आदित्य L1?
अभी तक इसरो धरती पर लगे टेलिस्कोप से सूर्य की स्टडी करता था, लेकिन इससे सूर्य के वातावरण का गहराई से पता नहीं चलता था. इसकी बाहरी परत कोरोना इतनी गर्म क्यों है और इसका तापमान कितना है, इसका पता नहीं है. लेकिन आदित्य के साथ गए उपकरण इस पर रोशनी डालेंगे.

Related Articles

Back to top button