रायपुर: कारोबारियों के ठिकानों में 500 करोड़ की गड़बड़ी पकड़ाई, कच्ची रसीदें जब्त

0
14

रायपुर. आयकर विभाग की टीम ने कारोबारियों के ठिकानों से तलाशी के दौरान 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की गड़बड़ी पकड़ी है. तलाशी के दौरान 11 करोड़ रुपए की ब्लैकमॅनी, 10 करोड़ से ज्यादा के निवेश एवं प्रापर्टी, 2 करोड़ की ज्वेलरी और 16 बैंक लॉकर मिले थे. इसमें से 10 करोड़ रुपए कैश पहले बरामद किया गया था. कारोबारियों और उनके परिजनों की 11 लॉकर की तलाशी लेने के बाद 5 को सील कर दिया गया है.

जांच के दौरान टैक्स चोरी की गड़बड़ी मिलने के बाद इससे संबंधित दस्तावेजों को जब्त किया गया है. इसमें बोगस बिलिंग और लेनदेन की कच्ची रसीदें, इलेक्ट्रानिक साक्ष्य, स्टॉक रजिस्टर, निवेश और प्रापर्टी शामिल है. इन सभी को जब्त करने के बाद सोमवार को टीम वापस लौटी. इनका वेरिफिकेशन कर कारोबारियों से आईटी दफ्तर में सभी बयान दर्ज किया जाएगा. इस दौरान दस्तावेजी साक्ष्य पेश करने पर उनका मिलान कर टैक्स चोरी का निर्धारण होगा. बता दें कि आयकर विभाग छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की 350 सदस्यीय टीम ने 14 दिसंबर को रायपुर स्थित दाल, अनाज और कोल्ड स्टोरेज संचालकों के 50 ठिकाने पर छापामारा था.

5 साल के रेकॉर्ड की जांच

आयकर विभाग की टीम कारोबारियों के टर्नओवर और पिछले 5 साल में जमा किए गए रिटर्न की जांच करेगी. साथ ही लेनदेन आय-व्यय और बैलेंस शीट की जांच होगी. बताया जाता है कि कारोबारियों द्वारा पिछले 5 साल से लगातार नुकसान बताकर टैक्स की चोरी की जा रही थी. जबकि उनका कारोबार में इजाफा हुआ था. दाल और अनाज ब्रोकर (कारोबारी) कमीशन एजेंट का काम भी कर रहे थे. लेकिन, इससे अर्जित होने वाली आय को छिपाकर रखा गया है. लैपटॉप, कम्प्यूटर में कच्चे का हिसाब रखने के बाद इसे डिलीट कर दिया गया था. इसे अहमदाबाद से बुलवाए गए एक्सपर्ट की टीम द्वारा रिकवर किया गया है.