केरल की महिला में मिला कोरोना सब-वेरिएंट JN.1

0
8

कोरोना वायरस के सब-वेरिएंट JN.1 का एक केस केरल में मिला है. 8 दिसंबर को इसकी शिकायत मिली थी.. उन्होंने कहा कि 79 वर्षीय महिला के सैंपल का 18 नवंबर को आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया जिसमें रिजल्ट पॉजिटिव मिला है. महिला में जुखाम जैसी बीमारियों (ILI) के हल्के लक्षण थे और वह कोविड-19 से उबर चुकी थी. सूत्रों ने बताया कि भारत में वर्तमान में 90 प्रतिशत से अधिक कोरोना मामले गंभीर नहीं हैं और वे अपने घर पर अलग-थलग रह रहे हैं.

इससे पहले, सिंगापुर में एक भारतीय यात्री में भी JN.1 सब-वेरिएंट के लक्षण मिले थे. व्यक्ति तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली जिले का मूल निवासी था और उसने 25 अक्टूबर को सिंगापुर की यात्रा की थी. तिरुचिरापल्ली जिले या तमिलनाडु के अन्य स्थानों में संक्रमण पाए जाने के बाद मामलों में वृद्धि दर्ज नहीं हुई. सूत्र ने कहा कि भारत में जेएन.1 स्वरूप का कोई अन्य मामला सामने नहीं आया है जो कि फिलहाल राहत की बात है. हालांकि, नया मामला दूसरों में न फैले, यह भी बहुत जरूरी हो जाता है.

लक्जमबर्ग में हुई सब-वेरिएंट JN.1 की पहचान

कोविड-19 के सब-वेरिएंट JN.1 की पहचान पहली बार लक्जमबर्ग में की गई थी. कई देशों फैला यह संक्रमण पिरोलो स्वरूप (BA.2.86) से संबंधित है. सूत्र ने बताया कि शुरुआती आंकड़ों से सामने आया कि वैक्सीन और इलाज अभी भी जेएन.1 उप-स्वरूप के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करेंगे. वैश्विक स्तर पर BA.2.86 और इसके सब-वेरिएंट के 3,608 मामले सामने आए हैं, जिनमें से ज्यादातर यूरोप और उत्तरी अमेरिका से हैं. हालांकि, यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने कहा कि शुरुआती आंकड़ों से पता चलता है कि कोरोना टीके जेएन.1 सब-वेरिएंट से सुरक्षा देने में कारगर हैं.

सिंगापुर में बढ़ते मामलों के बीच मास्क लगाने की अपील

सिंगापुर में कोविड-19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, ऐसे में देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों से भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मास्क लगाने की अपील की है. एडवाइजरी में कहा गया, ‘जिन लोगों में सांस से जुड़े संक्रमण के लक्षण हैं वे घरों से बाहर नहीं निकलें और लोगों के संपर्क में नहीं आएं. साथ ही यात्रा कर रहे लोगों को हवाई अड्डों पर मास्क लगाना चाहिए. यात्रा बीमा कराना चाहिए और उन स्थानों पर आने जाने से बचना चाहिए जहां हवा आने-जाने की उचित व्यवस्था नहीं हो.’ मंत्रालय ने कहा कि 3 से 9 दिसंबर तक कोविड​​-19 के मामले बढ़कर 56,043 हो गए, जो पिछले सप्ताह 32,035 थे, इस प्रकार से संक्रमण के मामले 75 प्रतिशत बढ़े हैं. संक्रमण से अस्पताल में भर्ती होने वालों की औसत दैनिक संख्या 225 से बढ़कर 350 हो गई. ICU में औसत दैनिक मामले 4 से बढ़कर 9 हो गए हैं. संक्रमण के इन मामलों में अधिकतर मामले जेएन.1 वेरिएंट के हैं.