फाइनल की हार को पचाना आसान नहीं था : रोहित

0
13

नई दिल्ली. रोहित शर्मा को पता नहीं था कि वनडे विश्वकप फाइनल में मिली हार की निराशा से वह कभी उबर सकेंगे या नहीं, लेकिन अब प्रशंसकों के प्यार और समझदारी ने उन्हें एक बार फिर शिखर पर पहुंचने का प्रयास करने के लिए प्रेरित किया है. रोहित ने यह नहीं बताया कि वह किस शिखर की बात कर रहे हैं, लेकिन समझा जाता है कि वह अगले साल टी-20 विश्वकप में भारत की कप्तानी के बारे में सोच रहे हैं. रोहित ने लिखा, ‘पहले कुछ दिन तो मुझे समझ ही नहीं आया कि इससे कैसे उबरूंगा. मेरे परिवार और दोस्तों ने मेरा हौसला बनाए रखा. हार को पचाना और आगे बढ़ना आसान नहीं था.’ रोहित ने कहा, ‘मैं 50 ओवरों का विश्वकप देखकर बड़ा हुआ. कई बार हताशा भी होती है क्योंकि जिसके लिए मेहनत कर रहे थे, जिसका सपना देख रहे थे, वह नहीं मिला.’