1181 उम्मीदवारों के राजनीतिक भाग्य का फैसला कल

0
11

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा आम चुनाव 2023 अंतर्गत 90 विधानसभा क्षेत्रों के लिए दो चरणों में हुए मतदान के बाद रविवार को मतगणना होगी. इसके लिए सभी 33 जिला मुख्यालयों में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह समेत 1181 अभ्यर्थियों के राजनीतिक भाग्य का फैसला 7 व 17 नवंबर को ईवीएम में कैद हुआ था.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबासाहेब कंगाले ने बताया कि सभी मतगणना केंद्रों में प्रेक्षकों की निगरानी में होने वाली मतगणना के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए 14 टेबल लगाए गए हैं. मतों की गिनती सुबह आठ बजे से शुरू होगी, जिसमें सबसे पहले सेवा मतदाताओं के मतों की गणना होगी. सबसे पहले इलेक्ट्रानिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलैट सिस्टम से प्राप्त मतों के क्यूआर कोड की स्कैनिंग की जाएगी. उसके बाद डाक मतपत्रों की गिनती शुरू होगी. साढ़े आठ बजे के बाद सभी टेबलों पर एक साथ मतगणना शुरू होगी. पहला चक्र पूरा होने पर सुबह करीब 9 बजे से रूझान आने लगेगा.

सीसीटीवी कैमरे, रिकॉर्डिंग भी रखी जाएगी

मतदान के बाद ईवीएम को सभी जिला मुख्यालयों में स्ट्रांग रूम में त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में रखा गया है. सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में

विधानसभा क्षेत्र कवर्धा, पंडरिया, कसडोल, सारंगढ़, बिलाईगढ़, भरतपुर- सोनहत में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा ईवीएम के माध्यम से मतों की गणना के लिए पूर्व में अनुमोदित 14-14  यहां अतिरिक्त टेबल लगाने टेबल की अनुमति दी गई.

इन विधानसभा क्षेत्रों में मतों की गणना के लिए टेबल की संख्या 14 के स्थान पर 21 हो गई है. अब कवर्धा व कसडोल में 20 चक्र, पंडरिया में 19, सारंगढ़ में 17, बिलाइगढ़ में 18, भरतपुर सोनहत में 15 चक्रों में ईवीएम द्वारा मतगणना की जाएगी. वहीं, सबसे कम मनेन्द्रगढ़ व भिलाईनगर में 12 चक्रों में मतगणना होगी. कड़ी सुरक्षा के बीच मतगणना केन्द्रों में होने वाली मतों की गिनती के दौरान बिना प्राधिकार पत्र के किसी भी व्यक्ति को मतगणना कक्ष में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी.