महतारी योजना: अब नहीं लगेगा डिलीवरी और ऑपरेशन का कोई पैसा, दवाईयां भी मुफ्त

0
9

रायपुर. श्री बालाजी हॉस्पिटल मोवा में अब डिलीवरी कराने वाले मरीजों को किसी भी प्रकार का कोई चार्ज नहीं देना पड़ेगा. यहां तक की ऑपरेशन और डिलीवरी के दौरान अस्पताल में 5 दिनों तक भर्ती रहने के दौरान दी जाने वाली दवाईयां भी पूरी तरह निःशुल्क होगी.

श्री बालाजी हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ देवेंद्र नायक कहते है कि आयुष्मान कार्ड से डिलीवरी का पैकेज हटा दिया गया है. यही कारण है कि डिलीवरी के लिए गर्भवतियों को दर-दर भटकना पड़ता है. महिलाओं की इसी परेशानी को सोचते हुए श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल कॉलेज ने ये अनोखी पहल शुरू करने का फैसला किया है. जिसमें गर्भवती की प्रारंभिक खून जांच और डिलीवरी के दौरान अस्पताल में 5 दिनों तक की दवाईयों और अस्पताल में ऑपरेशन या नार्मल डिलीवरी का कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा.

डॉ देवेंद्र नायक का कहना है कि इस योजना का लाभ उन महिलाओं को ही मिलेगा जिन्होंने डिलीवरी के दौरान अस्पताल में रूटीन चेकअप करवाया हो या डिलीवरी के 15 दिन पहले भी उन्होंने अस्पताल की ओपीडी में स्त्री रोग विशेषज्ञ से चेकअप करवाया हो.

अस्पताल में मौजूद है 8 स्त्री रोग विशेषज्ञ

मोवा स्थित श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में शहर के सबसे अनुभवी स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ निरजा अग्रवाल के नेतृत्व में 8 स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम मौजूद है.

पीडियाट्रिक विशेषज्ञ भी मौजूद

अस्पताल में 5 पीडियाट्रिक विशेषज्ञों की टीम और एक शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर मौजूद है, जो किसी भी प्रकार की इमरजेंसी में जन्में बच्चे का इलाज करने के लिए सक्षम है, जिससे एक ही छत के नीचे जच्चा और बच्चा दोनों का इलाज संभव हो सकेगा.