रेमंड ग्रुप के इंडिपेडेंट डायरेक्टर्स ने कहा, गौतम सिंघानिया और नवाज मोदी के वैवाहिक तलाक विवाद से कंपनी के स्टॉक को नुकसान पहुंच रहा है

0
11

रेमंड ग्रुप के चेयमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर गौतम सिंघानिया वर्तमान में अपनी अलग पत्नी नवाज मोदी सिंघानिया के साथ तलाक के समझौते को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में हैं. सिंघानिया पर घरेलू हिंसा के आरोपों से उनकी कंपनी के स्टॉक को नुकसान पहुंच रहा है.

हालांकि रेमंड ग्रुप के इंडिपेडेंट डायरेक्टर्स ने कहा कि वे कंपनी के निवेशकों को गौतम सिंघानिया और नवाज मोदी के वैवाहिक विवाद से बचाने के लिए हर संभव कदम उठाएंगे.

आईआईएएस ने सिफारिश की थी कि सिंघानिया और मोदी के तलाक समझौते के विवाद को देखते हुए कंपनी को एक अस्थायी सीईओ लाना चाहिए. हालांकि अब तक इंडिपेडेंट डायरेक्टर्स ने ऐसा कोई बदलाव करने की पुष्टि नहीं की है.

उन्होंने कहा कि इंडिपेडेंट डायरेक्टर्स पिछले कुछ हफ्तों से बैठक कर रहे हैं और स्थिति पर नजर रख रहे हैं.

रेमंड के प्रॉक्सी एडवाइजरी फार्मों ने कंपनी के स्टॉक पर पैनी नजर बना रखी है. जिनका कहना है कि यदि ऐसे ही झगड़ा चलता रहा तो उनका कारोबार ठप भी हो सकता है. प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म यानी ऐसी संस्थाएं जो कंपनी के अंदर होने वाले सभी बदलाव, सभी घटनाक्रमों पर बारीकी से नजर रखते हैं. जिसके बाद शेयरहोल्डर्स को इसकी जानकारी देते हैं.