2 से 4 दिसंबर तक छत्तीसगढ़ में भी चक्रवाती तूफान का दिखेगा असर

0
14

रायपुर. तमिलनाडु में बेमौसम बारिश से तबाही मची हुई है. लगातार हो रही बारिश की वजह से राजधानी चेन्नई में गुरुवार को स्कूल बंद रहेंगे. चेन्नई के अलावा तिरुवल्लूर जिले के भी सभी स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी का ऐलान कर दिया गया है.

चेंगलपट्टू और कांचीपुरम जिलों के स्कूल भी गुरुवार को बंद रहेंगे. मौसम विभाग ने भारी बारिश के मद्देनजर दो और तीन दिसंबर को चेन्नई और पड़ोसी जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के मुताबिक, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम, चेन्नई, चेंगलपट्टू, विल्लूपुरम, कुड्डालोर, मैयीलाडुथरई, नागपट्टिनम, तिरुवरुर, तंजावुर, पुदुकोट्टई, रामनाथपुरम और तूतुकुड़ी जिलों में भारी बारिश की आशंका है.

क्षेत्रीय मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों विशेष रूप से दो से चार दिसंबर तक भारी से भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. भारी बारिश के कारण पूरे चेन्नई शहर में ट्रैफिक जाम भी हो गया था. इतना ही नहीं, बारिश के चलते अंबत्तूर और अवादी रेलवे स्टेशन के बीच भी पानी भर गया था, जिस कारण लोकल ट्रेनें 20 से 30 मिनट की देरी पर चल रही हैं.

मौसम विभाग का कहना है कि दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी और दक्षिणी अंडमान सागर के ऊपर लो-प्रेशर एरिया बन रहा है, जिसकी वजह से आने वाले दिनों में चक्रवाती तूफान आने की आशंका भी है.

छत्तीसगढ़ में भी मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है, जिसमें बताया है कि चक्रवाती तूफान मिचौंग दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी में पहुंचेगा. 3 दिसंबर को बस्तर और 4 दिसंबर को दुर्ग, रायपुर और बिलासपुर संभाग में बारिश की संभावना है.

मिली जानकारी के मुताबिक, बंगाल की दक्षिण पूर्व खाड़ी और उससे सटे हुए दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र अब कम दवाब वाले इलाके में पूरी तरह से तब्दील हो गया है. इसकी वजह से चक्रवाती तूफान आने का खतरा बढ़ता जा रहा है. मौसम विभाग के मुताबिक इस बात की भी उम्मीद जताई जा रही है कि इसे और भी ज्यादा मजबूती मिलेगी. अगले 48 घंटों के भीतर दक्षिण-पश्चिम और उससे सटे दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर ये एक चक्रवाती तूफान ‘मिचौंग’ में तब्दील हो जाएगा.