शराब घोटाला: आईएएस टुटेजा, दास, अनवर समेत 5 लोगों पर नोएडा में एफआईआर दर्ज

नोएडा पुलिस का दावा-शराब के सिंडिकेट की मिलीभगत से असली-नकली बनाए गए होलोग्राम, टेंडर भी दिया गया अवैध

RAIPUR. Breaking: FIR filed against IAS Tuteja, Das, Anwar and 5 others in Noida. शराब घोटाला एक बार फिर चर्चा में है। दरअसल, शराब घोटाले में छत्तीसगढ़ के स्पेशल सेक्रेटरी एक्साइज, एक्साइज कमिश्नर (आईएएस) समेत 5 लोगों के खिलाफ नोएडा के थाना कासना में केस दर्ज किया गया है। इसमें 1200 करोड़ के घोटाले का आरोप है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) रायपुर में तैनात उप निदेशक हेमंत ने रविवार को रिपोर्ट दर्ज कराई है। नोएडा पुलिस के मुताबिक इस मामले में थाना कासना में अरुण पति त्रिपाठी, स्पेशल सेक्रेटरी एक्साइज, निरंजन दास एक्साइज कमिश्नर, आईएएस अनिल टुटेजा, विधु गुप्ता और अनवर ढेबर के खिलाफ धारा 420, 468, 471, 473, 484 ,120- बी के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है।

Breaking: शराब मामले में कारोबारी अनवर ढेबर को हाई कोर्ट से जमानत

दरअसल, दर्ज केस के मुताबिक, ईडी छत्तीसगढ़ में करोड़ों के शराब घोटाले में मनी लांड्रिंग की जांच कर रही है। जांच में पाया गया कि शराब के सिंडिकेट की मिलीभगत से नोएडा स्थित कंपनी में असली और नकली दोनों होलोग्राम बनाए गए। ये होलोग्राम विधु गुप्ता के नोएडा स्थित प्रिज्म होलोग्राफी सिक्योरिटी फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड के कारखाने में बनाए गए। इस कंपनी को होलोग्राम बनाने का टेंडर अवैध तरीके से दिया गया। हर होलोग्राम में 8 पैसा कमीशन लिया गया। आरोप है कि डुप्लीकेट होलोग्राम नोएडा फैक्ट्री में बनाने के बाद सिंडिकेट संचालकों के पास ले जाया गया। इसके बाद नकली होलोग्राम लगाकर बड़े पैमाने पर छत्तीसगढ़ में देश में बनी शराब बेची गई।

नकली होलोग्राम छापकर गोरखधंधे में लगे थे आरोपी

होलोग्राम की संख्या सिंडीकेट के कहने पर उसके हिसाब से छापकर करके भेजी जाती थी। जानकारी के मुताबिक 5 साल में 80 करोड़ होलोग्राम छापने का एग्रीमेंट हुआ था। होलोग्राम को नोएडा के कारखाने में छापकर सड़क के रास्ते छत्तीसगढ़ ले जाया जाता था। आरोप है कि इस घोटाले में छत्तीसगढ़ राज्य के खजाने को 1200 करोड़ का नुकसान हुआ है। अधिकारियों के अनुसार ईडी ने जांच के दौरान पीएचएफएस नोएडा फैक्ट्री से 2021 में डुप्लीकेट होलोग्राम जब्त किए हैं। ईडी के मुताबिक आरोपियों ने पूछताछ में माना कि नकली होलोग्राम छापकर वो इस गोरखधंधे में लगे थे।

 

Back to top button