Breaking: महागठबंधन के विधायक रायपुर से रांची रवाना, झारखंड में भी बाड़ेबंदी

सोरेन ने कहा-बीजेपी अपने ही ट्रैप में फंस गई

रायपुर। राजधानी रायपुर से झारख्ंाड के विधायक रवाना हो गए हैं। सियासी उठापटक के बीच आज महागठबंधन के सभी विधायक यहां से निकल गए हैं। जानकारी के अनुसार विधायकों को बसों में बिठाकर रायपुर एयरपोर्ट लाया गया है। रांची में भी सभी विधायकों को बाड़ेबंदी में ही रखा जाएगा। इसके लिए स्टेट गेस्ट हाउस और स्टेट सर्किट हाउस में बुकिंग की गई है। कल सभी विधायक विधानसभा के विशेष सत्र में शामिल होंगे।

इस बीच, हेमंत सोरेन ने एक बार फिर से विपक्ष पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि विपक्ष अपनी षड्यंत्रकारी नीतियों में खुद ही फंस जाएगा। उन्होंने कहा कि सत्र शुरू होने में कुछ घंटे बाकी है। सत्र के बाद सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। सीएम ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है।

इधर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के खनन लीज मामले में चुनाव आयोग की चिट्ठी मिलने के 10 दिन बाद भी राज्यपाल का कोई आदेश नहीं आया है,लेकिन राज्य की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है। सोमवार को विधानसभा का एक दिन का सत्र बुलाया गया है। इसमें सरकार विश्वास मत हासिल करेगी।

गुजरात दंगों की साजिश मामले में तीस्ता सीतलवाड़ को जमानत, सुप्रीम कोर्ट ने कहा-पासपोर्ट सरेंडर करना होगा

केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में भी अपना विश्वास मत पेश किया है। वहां भी झारखंड जैसी ही स्थिति बन रही थी। चार विधायकों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि उन्हें भाजपा के लोग खरीदने की कोशिश कर रहे हैं। विधायकों ने दावा किया कि इसके लिए 20-20 करोड़ रुपए देने की पेशकश कर रहे हैं।

दिल्ली से नहीं लौटे गवर्नर, असमंजस बरकरार

राज्यपाल रमेश बैस शनिवार को दिल्ली से नहीं लौटे। वे शुक्रवार को दिल्ली गए थे। राजभवन ने बताया था कि वे स्वास्थ्य जांच के लिए गए है। उनके शनिवार को लौटने की संभावना थी। इससे राज्य में ऊहापोह की स्थिति बढ़ गई है। साथ ही विश्वास मत से पहले कोई आदेश जारी होने की संभावना भी कम हो गई है।

Back to top button