Breaking: आपके काम की खबर: अब घर बैठे वोटर कार्ड से आधार से लिंक कर सकेंगे, ऐसे करें…

वोटर हेल्पलाइन एप गरुड़ जारी, लेकिन भरना होगा 6बी फॉर्म

रायपुर। वोटर कार्ड से आधार लिंक। आज आप अपने काम की खबर पढ़िए। वोटर आईडी से आधार कार्ड को लिंक करने का अभियान शुरू कर दिया गया है। चुनाव आयोग के मुतािबक दोनों के जुड़ जाने से फर्जी वोटर आईडी हटाने में प्रशासन को मदद मिलेगी। इसके लिए प्रशासन ने वोटर हेल्प लाइन, गरुड़ नामक एप जारी किया है।

Breaking: छत्तीसगढ़ में 50 लाख से अधिक घरों पर तिरंगा, 26 करोड़…

एप के माध्यम से मतदाता अपने वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से घर बैठे लिंक कर सकते हैं। इसके साथ वेब पोर्टल nvsp.in से स्वयं अथवा अपने बीएलओ के मदद से भी मतदाता वोटर आईडी कार्ड और आधार कार्ड लिंक कर सकते है। वहीं कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भूरे ने भी जिले के मतदाताओं से जल्द से जल्द अपने वोटर कार्ड- आधार कार्ड लिंक करने की अपील की है।

जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार चुनाव के दौरान कई जगहों पर फर्जी वोटिंग की शिकायत मिलती है। इसलिए चुनाव आयोग ने फर्जी वोटिंग पर अंकुश लगाने के लिए वोटर आईडी को आधार कार्ड से साथ लिंक कर रहा है। इसमें कोई भी मतदाता वोटर हेल्पलाइन एप अथवा nvsp.in में जाकर स्वयं को रजिस्टर कर अपने स्वयं का एवं अपने परिवार तथा मित्रों का आधार नंबर मतदाता सूची में अपडेट कर सकता है। इसके लिए मतदाता को फॉर्म 6 बी की सभी जानकारी अपडेट करना होगा।

यहां से डाउनलोड कर सकते हैं एप

जानकारी के मुताबिक मतदाता गरुड़ नामक एप वेब लिंक https://play.google.com/store/apps/details?id=com.eci.citizen से एप अपने मोबाइल पर डाउन लोड कर सकते हैं। लिंक करने में किसी प्रकार की दिक्कत या फिर परेशानी हो रही है तो वह अपने इलाके के बीएलओ यानी कि बूथ लेवल ऑफिसर से संपर्क कर दोनों कागजात लिंक करा सकते हैं। इस दौरान आधार और वोटर आईडी नंबर देना होगा। इस जानकारी को बीएलओ वेरिफाई करेगा और वोटर आईडी-आधार को लिंक कर देगा।

जानिए आधार से कैसे जोड़ेंगें वोटर आईडी

  • एनवीएस पी से जोड़ें वोटर आईडी-आधार।
  • सबसे पहले nvsp पोर्टल खोलें और अपना नाम, जन्म तिथि और पिता का नाम दर्ज करें।
  • सर्च बटन पर क्लिक करें, इससे डेटाबेस में आपकी दी गई पर्सनल जानकारी सामने दिख जाएगी।
  • अब ‘फीड आधार नंबर’ का विकल्प दिखेगा जिस पर क्लिक करें, उसके बाद पेज खुलेगा। जिसमें अपना नाम दर्ज करना होगा। यह वही नाम होना चाहिए जो आधार कार्ड, वोटर आईडी, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और या रजिस्टर्ड ईमेल पते में दिया गया है। इसके बाद वोटर आईडी-आधार लिंक की रिक्वेस्ट मंजूर हो जाएगी और आपको इसका मैसेज भी मिल जाएगा।
Back to top button