फूट्स खाते हैं तो अलर्ट हो जाएं, क्योंकि इससे

खाली पेट इन फलों को खाने से नुकसान, बीमार भी हो सकते हैं

  • नई दिल्ली। Be alert if you eat fruits…. फूट्‌स खाते हैं तो अलर्ट हो जाइए क्योंकि ये सेहत खराब कर सकते हैं। फल सेहत के लिए फायदेमंद हैं, लेकिन गलत तरीके और गलत समय पर फल खाना बीमारियों को दावत देना है। डाइटीशियन के मुताबिक कुछ फलों को खाली पेट खाना फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। इन्हें खाली पेट खाने से परहेज करें। संतरा और मोसंबी जैसे फलों में विटामिन सी की मात्रा ज्यादा होती है। इनमें सिट्रिक एसिड भी पाया जाता है। इन्हें खाली पेट खाते हैं तो एसिडिटी हो सकती है।

    आखिर ऐसा क्या हो गया कि लोगों ने विधायक को कीचड़ से नहला दिया…जानिए पूरा मामला

  • आम- आम में काफी मात्रा में शुगर की मात्रा पाई जाती है, गलती से भी खाली पेट आम न खाएं, ये डाइजेशन को बिगाड़ देता है। डायबिटीज के मरीजों को तो इसे खाली पेट भूलकर भी नहीं खाना चाहिए।
  • केला- केले में मैग्नीशियम की मात्रा ज्यादा होती है। खाली पेट केला खाने से ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है। ये हार्ट को नुकसान पहुंचा सकता है, इसलिए खाली पेट में केला खाने से परहेज करें।
  • नाशपाती- खाली पेट नाशपाती खाने से डाइजेस्टिव सिस्टम पर असर होता है। इससे पेट के पास मौजूद झिल्लियों को नुकसान हो सकता है।
  • संतरा और मोसंबी- इनमें विटामिन सी और सिट्रिक एसिड की मात्रा ज्यादा होती है। खाली पेट ये फल खाते हैं तो पेट में जलन हो सकती है।
  • अंगूर– अंगूर में एसिड होने के कारण खाली पेट खाने से गैस्ट्रिक अल्सर का खतरा बढ़ता है। पेट में जलन की समस्या भी हो सकती है।
  • लीची- खाली पेट लीची खाना भी नुकसान पहुंचा सकता है। लीची में हाई पोलिसीन-A नाम के एलिमेंट्स होते हैं। खाली पेट लीची खाने से तेज बुखार और उल्टी जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

फलों को काटकर खाने से भी न्यूट्रिशन खत्म हो जाते हैं

फलों में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इन्हें देर तक काटकर रखने या प्रकाश के संपर्क में आने पर फलों के न्यूट्रिशन खत्म हो जाते हैं। देर से रखे फलों के रस भी खराब हो जाते हैं हैं। फलों के रस को भी कंटेनर में स्टोर कर सकते हैं। सनलाइट, गर्मी और पानी तीन ऐसे कारण हैं जो फलों में न्यूट्रिशन की कमी का कारण बनते हैं। फलों को लंबे समय तक हवा में रखने पर भी विटामिन सी की कमी हो सकती है। इसके अलावा सेब और केला जैसे फल पर एंजाइम से रिएक्शन करके सतह पर भूरे रंग की परत आ सकती है।

 

फलों को ऐसे करें स्टोर

जरूरी हो, तो ही कटे हुए फलों को एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें, ठंडी जगह पर रखें , कम रोशनी में स्टोर करने की कोशिश करें। फलों के रस को स्टोर नहीं करना चाहिए, इससे नुकसान हो सकता है। अगर आप लंच बॉक्स में कटे हुए फलों को स्टोर करना चाहते हैं, तो इसके लिए सर्दियों का मौसम सही है। उस दौरान फलों पर थोड़ा चीनी या नींबू डालकर उन्हें कुछ समय के लिए लंच बॉक्स में स्टोर कर सकते हैं, लेकिन ज्यादा समय तक फलों को स्टोर करने से इसका भरपूर लाभ नहीं मिल पाता।

कौन-से फल किस मौसम में खाएं

आयुर्वेदाचार्य डॉ.अमित सेन कहते हैं कि आजकल लोग पूरे साल हर तरह फलों का मजा लेते हैं, लेकिन कुछ ऐसे फल हैं जो बेमौसम मिलने के कारण शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसके अलावा खट्टे फल खली पेट नहीं खाने चाहिए। डॉ. सेन कहते हैं कि सेब कभी भी खली पेट नहीं खाना चाहिए। अगर आपको हाई बीपी की बीमारी है तो सेब में नमक न डालें और उसे छिलके समेत खाएं।

Back to top button